Saturday, 17 March 2018

चैत्र नवरात्र 2018:जानिए नौ देवियों की पूजा में क्या चढ़ाएं भोग और चोला


 संदीप कुमार मिश्र : ।।जय माता दी।। माता दुर्गा कि नवरात्र के पावन अवसर नौ स्वरुपों की पूजा अर्चना की जाती है।आईए जानते हैं नौ दिनो तक माँ भगवती की किस प्रकार से पूजा ,चोला और भोग लगाएं जिससे हो सभी मनोकामनाएं पूर्ण-

पहला नवरात्रा
18-3-2018, रविवार, माँ शैलपुत्री
चोला (मैरुन), भोग (सफेद चीजें, या गांय के घी से बनी)
ऐसा करने से  सभी प्रकार के रोगो से हमें मुक्ति मिल जाती है।

दूसरा नवरात्र
19-03-2018 सोमवार,माँ ब्रम्हचारिणी
 चोला (सफ़ेद).भोग (मिश्री, चिनी, पँचामरित भोग (लोंग, ईलाईची, सुपारी, सात पान के पत्ते, मिश्री.),
 दान करने से आयु लम्बी होती है।

तीसरा नवरात्रा
 20-03-2018, मंगलवार,माँ चंद्रघण्टा
चोला (केसरी), भोग (दूध और उससे बनी चीजें)
 दान करने से माँ भगवती खुश होती है और दुःखो का नाश करती है।

चौथा नवरात्रा
21-03-2018, बुधवार,माँ कुष्मांडा
चोला (रानी) ,भोग खीर और मालपुएँ का भोग, ब्राम्हण को दान करने से और खुद भी खाने से ,बुद्धि का विकास होता है।

पाचँवा नवरात्रा
22-03-2018, वीरवार,माँ स्कंदमाता
चोला (पीला),भोग केले का भोग ,पाँच भिखारीयों को  केले दान करने से ,शरीर सवचछ होता है।

छठा नवरात्रा
 23-03-2018, शुक्रवार,माँ कात्यायनी देवी
चोला (नेवी ब्लू), भोग मघु (शहद) का भोग लगाने से,  साधक को सुंदर रूप प्राप्त होता है।

सातवां नवरात्रा
24-03-2018, शनिवार,माँ कालरात्रि
चोला (हरा) , भोग (गुड़ और चना) का भोग लगाने से मनुष्य शोक मुक्त होता है।


आठवां व नौवां नवरात्र
माँ भगवती की अष्टमी और नवमी
25-03-2018,शनिवार, माँ महागौरी,माँ सिद्धीदात्री
चोला (लाल) ,भोग (नारियल और चना पुडी़ )का भोग लगाने से माँ भगवती सबकी मनोकामना पूर्ण करती है और जीवन में सुख शांति मिलती है !!

हम कामना करते हैं कि माँ भगवती,जगत जननी मां जगदम्बा की कृपा आप सभी पर बनी रहे। आपकी जीवन यात्रा को मां शेरावाली सार्थक करे, आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करें,और आपके जीवन में सब मंगल ही मंगल हो।
!! जय माता दी !!