Wednesday, 27 January 2016

मोदी जी का जलवा बरकरार लेकिन सरकार का...?


संदीप कुमार मिश्र: पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार ने अपना 20 महीने का कार्यकाल अब तक पूरा कर लिया है।मोदी सरकार कई मुद्दों पर तो शानदार तरीके से काम कर रही है,लोगों की जमकर वाहवाही भी बटोर रही है,लेकिन वहीं कई ऐसे मुद्दे हैं जहां पर सरकार ने आम आदमी को निराश भी किया है। शायद यही वजह है कि बीजेपी को शुरुआता के कई राज्यों में हुए चुनाव में सानदार सफलता मिली तो कई राज्यों में आए परीणामों ने निराश भी किया और हार का सामना भी करना पड़ा।

दरअसल एक न्यूज चैनल ने बीजेपी नीत एनडीए सरकार के कामकाज को एक सर्वे के अनुसार औसत से ऊपरबताया है।इस रायशुमारी में एक चौंकाने वाली बात तो रही वो ये कि की मोदी सरकार से कहीं ज्यादा पापुलर स्वयं मोदी जी ही रहे।सरकार से देश के आम नागरीकों में कहीं खुशी कही गम जरुर नजर आया लेकिन नरेंद्र मोदी जी के साथ जनता हर कदम पर खड़ी नजर आयी।

दोस्तों आपको बता दें कि एबीपी न्यूज-नील्सन की ओर से कराए गए एक सर्वे में (ओपिनियन पोल) में 46 फीसदी लोगों ने सरकार को बहुत अच्छी या अच्छी बताया। लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी को 54 फीसदी लोगों ने बहुत अच्छा या अच्छाबताते हुए आशा और उम्मीद मोदी जी में बरकरार रखी।इस सर्वे में कहा गया कि, अगर कल लोकसभा चुनाव कराए जाते हैं तो बीजेपी गठबंधन को 38 फीसदी वोट मिल सकते हैं।कहने का मतलब है कि 2014 में बीजेपी को मिली 339 सीटों की तुलना में अब 301 सीटें मिलेंगी।यानी सीटों में कमी जरुर आएगी,लेकिन केंद्र की सत्ता पर काबिज मोदी सरकार ही रहेगी।

इस लिहाज से सर्वे कहता है कि मोदी की लहर अब भी बरकरार है,जिनके आगे विपक्ष दूर-दूर तक टिकता नजर नहीं आता है।कुछ मुद्दे जिनपर लोगों की रायशुमारी ली गई,उनमें है-
क्या आम लोगों के अच्छे दिन आए ?

 
अंतत: साब सर्वे तक तो ठीक है लेकिन क्या आम आदमी जो उम्मीद मोदी सरकार से लगाए बैठी है वो पूरी हो पा रही है।क्योंकि ना तो रोजगार बढ़ते नजर आ रहे हैं,ना ही महंगाई पर लगाम लग रही है।भ्रस्टाचार पर कमी तो निश्चित तौर पर लगी है। लेकिन तमाम ऐसी इंडस्ट्री है जो या तो बंद हो गयी या फिर बंद होने की कगार पर है,रियल स्टेट का कारोबार मंदा पड़ गया है।मीडिया में काम कर रहे लोग चैनलों के बंद होने से या तो सड़क पर आ गए या फिर तनख्वाह ना मिलने से परिवार पालने के संकट से जुझ रहे हैं।विश्व में जहां भारत की छवी मोदी सरकार के राज में बेहतर हो रही है तो वहीं देश में शांति भंग हो रही है।कारण चाहे जो भी लेकिन जवाबदेही तो सरकार की ही बनती है।खासकर एक ऐसी सरकार से, जिसके वादे और इरादों पर जनता का अटूट विश्वास देखने को मिला और है भी।खासकर उस व्यक्ति में जिसके लिए राष्ट्र सर्वप्रथम है, और वो हैं देश के अब तक के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी।मोदी जी में विश्वास का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि उनकी सरकार में लोगों का विश्वास कम या ज्यादा जरुर है लेकिन उनकी लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आई है।जिसका एक सबसे बड़ा मुख्य कारण है कि मोदी जी में आमजन का यकीन लगातार कायम हैं। इस लिहाज से क्या जरुरी नहीं कि सरकार भी वही विश्वास जनता में कायम करे जो विश्वास जनता का मोदी जी में है।क्योंकि जनता देश की सत्ता पर मोदी जी को ही भविष्य में भी देखना चाहती है।


(आंकडे सौजन्य एबीपी न्यूज)