Friday, 29 January 2016

खुफिया एजेंसियों के लिए बड़ा सिरदर्द बगदादी की साजिश...!


संदीप कुमार मिश्र: समुची दुनिया के लिए इस समय जो सबसे बड़ा चिंता का विषय है वो है आतंकवाद।क्योंकि कही ना कहीं विश्व का हर कोना आतंकवाद से पीडित नजर आता है।और इस समय मानवता पर सबसे बड़ा खतरा है आईएसआईएस। अब तो आतंक का पर्याय बने आईएसआईएस की निगाहें भारत में दहशत फैलाने की है।

दरअसल दुनिया के अन्य मुल्कों में तहलका मचाने के बाद आईएसआईएस भारत के लिए खतरनाक मंसूबे तैयार कर रहा है।हमारे देश की खुफिया एजेंसियों ने देश के कई इलाकों से पकड़े गए संदिग्धों के आधार पर कुछ ऐसी जानकारियां और सबुत हासिल किये हैं जिससे खुफिया एजेंसियां भी सकते में आ गईं है।कहा जा रहा है कि आईएसआईएस के सरगना अबू बक्र अल बगदादी भारत का तख्तापलट करने की साजिश रच रहा है।ऐसे में भारत की चिंता लाजमी है।इस आतंकी संगठन के खतरे की चर्चा हमारे गृह मंत्री भी करते हैं और सजग रहने की बात कहते हैं।

विश्वभर में अपनी आतंकी विचारधारा के लिए पहचाने जाने वाला आईएसआईएस का सरगना बगदादी भारत में भी अपनी जड़ें मजबूत करना चाहता है। इसमें कोई शक नहीं कि विश्व के शक्ति संपन्न देशों में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने वाला बगदादी भारत में भी अपनी नापाक हरकतों को अंजाम देना चाहता है। बगदादी चाहता है कि वह जल्द ही पूरे विश्व में शरिया कानून लागू करे। इसके लिए वह आतंक को ही अपना हथियार बना रहा है,जो मानवता पर सबसे बड़ा खतरा है...।

हमारे देश के मुंबई, रुड़की, हैदराबाद और बैंगलरू से आईएसआईएस के संदिग्धों को खुफिया एजेंसी एनआईए(नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी) ने गिरफ्त में लिया। जब इन संदिग्धों से पूछताछ हुई तो कुछ ऐसी जानकारियां सामने आई, जिन्हें सुनकर खुफिया एजेंसियों के भी होश फाख्ता हो गए। दरअसल बगदादी भारत में तख्ता पलट कर देश के अंदर शरिया कानून लागू करना चाहता है। साथ ही वह शरिया कानून के तहत गुनहगारों को हाथ काटने की सजा देना चाहता है। अपने इरादों को पूरा करने के लिए उसने भारत में आतंकी जुटाने भी शुरू कर दिए हैं। इसके अलावा बगदादी के निशाने पर देश की पुलिस भी है।जिसपर बगदादी की पैनी नजर है।

अपने इस नापाक मंसुबे को कामयाब करने लिए बगदादी ने कंप्यूटर के जानकारों की टीम भी तैयार की है।अपनी इस टीम के तहत बगदादी खुफिया जानकारी चोरी से इकट्ठा करना चाहता है।इन हैकरो की मदद से जुटाई गई जानकारियों के आधार पर ही बगदादी अपनी नई रणनीति तैयार करना चाहता है।


अंतत: ये समझना किसी के लिए भी आसान है कि बगदादी के मंसुबे कितने खतरनाक है।जो कि उसने दुनिया के तमाम मुल्कों में दिखा दिया है।ऐसे में जरुरी है कि सिर्फ सरकार और खुफिया एजेंसी ही नहीं हमें भी सजग और सतर्क रहना चाहिए।किसी भी प्रकार की संदिग्ध जानकारी मिलने पर इसकी जानकारी यथा शिघ्र पुलिस को देनी चाहिए।क्योंकि ऐसा करने से हम मानवता की रक्षा तो करते ही हैं साथ ही राष्ट्र धर्म का पालन भी करते हैं...।