Sunday, 27 December 2015

सलमान खान का अर्ध शतक : बर्थडे स्पेशल



संदीप कुमार मिश्र: भाईजान यानी सलमान खान। बॉलीवुड के दबंग यानी सल्लु मियां,हर दिल अजीज आज जीवन का अर्ध शतक लगा चुके यानि सलमान खान 50 साल के हो गए है। फिल्म जगत में 'प्रेम' के नाम से अपनी शानदार पहचान बनाने वाले सलमान हर दिल अजाज और नेकदिल इंसान हैं।देस के युवा दिलों की धड़कन हैं सलमान खान। इस बात में किसी को शक नहीं है।जबकि दोस्तों बजरंगी भाईजान की जितनी चर्चा उनकी फिल्मों की वजह से होती है उतनी ही ज्यादा सुर्खियां सलमान खान की व्यक्गित जिंदगी को लेकर भी होती रहती है।50 साल पूरा करने के बावजूद वे बॉलीवुड के अब भी सबसे चहेते कुंवारे बने हुए हैं।जो कभी अपनी पूर्व प्रेमिका ऐश्वर्या राय को थप्पड़ मार देने की वजह से चर्चा में रहे तो कभी शाहरुख से सार्वजनिक रूप से झगड़ करने के कारण।लेकिन जब बिग बॉस के शो में सलमान और शाहरुख एक मंच पर नजर आते हैं तो उनकी दरियादिली और दोस्ती फिर से देखने को मिल जाती है।

दरअसल सलमान खान बॉलीवुड में बस नाम ही काफी है। सलमान खान माया नगरी के ऐसे स्टार हैं, जो पिछले 25 सालों से बॉलीवुड पर लगातार अपना दबदबा बनाए हुए हैं।जिस फिल्म में भाईजान होते हैं वो फिल्म नाम से ही हिट हो जाती है।सलमान खान के पीछे भले ही उनके पिता सलीम खान का नाम हो, लेकिन अपनी मंजिल को तय करने के लिए दबंग खान को बड़ी मेहनत करनी पड़ी। 27 दिसंबर 1965 को जन्मे सलमान खान के पिता सलीम खान फिल्म इंडस्ट्री के जानेमाने स्क्रिप्ट राइटर हैं। जबकि मां का नाम सलमा है। सलमान की मां हिंदू हैं, इसलिए खुद सलमान कई बार कह चुके हैं कि वो आधे हिंदू हैं,और आधे मुस्लिम। उनके घर में एक तरफ जहां दिवाली के दिन पटाखे और दिए जलाए जाते हैं तो वहीं ईद के दिन सेवईयों से घर में खुशबू फैल जाती है।अभिनेता सलमान ने अपनी शुरुआती पढ़ाई ग्वालियर के सिंधिया स्कूल से की जिसके बाद वो मुंबई आ गए और आगे की पढ़ाई की।सिर्फ फिल्मी दुनिया के लोग ही नहीं,सलमान को हर कोई नेक दिल और सच्चा इंसान कहता है।


जहां कामयाबी और शोहरत होती है वहीं कुछ परेशानियां और मुश्किलें भी होती हैं।दरअसल मुश्‍किलें हिट-एंड-रन मामले ने सलमान की परेशानियां लगातार बढ़ाकर रखी।क्योंकि महाराष्‍ट्र सरकार ने सन 2002 के हिट-एंड-रन मामले पर हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने का फैसला लिया है।उनपर आरोप है कि फुटपाथ पर सो रहे लोगों पर उन्होंने गाड़ी चढ़ा दी थी,जिसमें एक युवक की मौत हो गयी थी।वहीं काला हिरन के शिकार मामले में भी वह आरोपी हैं।सलमान बीते समय में एक से बढ़कर एक  बुरे दौर से गुजरे। जब फिल्मों में उनकी शुरुआत हुई तो पहली फिल्‍म 'बीबी हो तो ऐसी' की।फिल्म तो ज्यादा नहीं चली लेकिन उसके बाद फिल्‍म 'मैंने प्यार किया' से फैंस के दिलों में सलमान घर कर गए। सन 1988 से फिल्मों में अपना भविष्य देखने वाले सलमान खान ने हर दौर के अनुसार फिल्मों की। सन 2000 के आसपास जब माया नगरी बदलाव के दौर से गुजर रही थी तो उस दौर में आयी सलमान की फिल्में बुरी तरह से पिट रही थी।उनकी 'हैलो ब्रदर', 'दुल्हन हम ले जाएंगे', 'चल मेरे भाई', 'हर दिल जो प्यार करेगा', 'कहीं प्यार न हो जाए', 'तुमको न भूल पाएंगे', 'हम तुम्हारे हैं सनम' जैसी वह फिल्में थी जिनमें सलमान लगभग एक जैसी भूमिकाओं में ‌दिखे और फैंस की उम्मीद पर खरा नहीं उतर पाए।यह सलमान खान के लिए एक बुरे सपने से कम नहीं था।ये वो दौर था जब सलमान अपने फिल्मी सफर के निचले पायदान पर आ चुके थे।


समय का बदलना बदस्तुर जारी रहा और अपने खराब दौरे से गुजर रहे सलमान के लिए 2003 का साल अच्छा रहा।इस वर्ष पर्दे पर उनकी फिल्म 'तेरे नाम' ने धुम मचा कर रख दिया।इस फिल्म ने सफलता का ऐसा झंडा गाड़ा कि 'तेरे नाम' फिल्म में सलमान खान का हेयर स्टाईल लोगों में खुब पसंद किया जाने लगा।तेरे नाम के बाद सलमान खान की हिट फिल्‍मों का दौर शुरु हुआ। इसके बाद की फिल्मों में सलमान के किरदारों में दर्शकों को अनेकों रंग देखने को मिले।जैसे 'मुझसे शादी करोगी', 'दिल ने जिसे अपना कहा', 'मैने प्यार क्यूं किया', 'लकी', 'नो एंट्री', 'क्योंकि', 'जानेमन' और 'पार्टनर' जैसी फिल्मों में सलमान हर उस रुप में नजर आए जिसे लोग देखना चाहते थे।वहीं दबंग फिल्म सीरिज ने उन्हें बॉलीवुड में प्रेम से दबंग बना दिया।

बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान के परिवार वालों ने रविवार को उनके लिए कुछ खास करने की योजना बनाई है। क्योंकि 'भाईजान' 50 साल के हो गए हैं। जबकि सलमान ने पहले इशारा दिया था कि वह जश्न के लिए वक्त नहीं दे पाएंगे, क्योंकि वह आनी आने वाली फिल्म 'सुल्तान' में अपनी भूमिका के लिए बॉडी बिल्डिंग में व्यस्त हैं।दोस्तों साल 2015 सलमान के करियर के लिहाज से, यह साल 'दबंग खान' के लिए बहुत ही बढ़िया रहा।क्योंकि उनकी फिल्में 'बजरंगी भाईजान' और 'प्रेम रत्न धन पायो' कामयाब रहीं। वहीं, बंबई हाईकोर्ट ने उन्हें 2002 के हिट एंड रन मामले में बरी कर दिया जो कि सलमान के लिए एक बड़ी राहत है।


अंतत: सलमान खान का हर चाहने वाला यही चाहता है कि जिस तरह से उन्होने सफलता का अर्ध शतक पूरा किया वैसे ही जींदगी को खुशहाली से जीते रहें,अपने चाहने वालों को अच्छी फिल्मों के माध्यम से आनंदित करते रहें।स्वस्थ रहें मस्त रहें और अपनो के चहेते बने रहें।जन्म दिन पर हम सब की शुभकामनाएं उनके साथ हैं...और सुल्तान की कामयाबी के लिए भी..।।